देश के सर्वश्रेष्ठ राज्यों में गिना जाएगा मध्यप्रदेशः शिवराज

उन्होंने कहा कि दस-बारह किलोमीटर की परिधि में आने वाले गाँवों के तीन से चार हजार बच्चे एक साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करेंगे। वर्तमान स्कूलों बेहतरीकरण के साथ ही नये स्कूल बनाए जाएंगे। युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये टीसीएस, इन्फोसिस जैसी कम्पनियों और निवेशकों को राज्य में आमंत्रित किया गया है। उद्यमियता बढ़ाने पर जोर होगा। सात नये चिकित्सा महाविद्यालय खोले जा रहे हैं। जहाँ अस्पताल नहीं पहुंच सकते वहाँ सर्वसुविधायुक्त मोबाइल चिकित्सालय पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में विकास कार्यों के लिए बजट बढ़ा है। मध्यप्रदेश का पिछले आठ वर्षों से विकास दर 10 प्रतिशत के आस-पास है, जो देश में दूसरे नंबर पर है। सरकार के 100 रुपये के राजस्व में से 22 रुपये ब्याज में जाते थे। आज मात्र साढ़े आठ रुपये जाते हैं। आज की सड़कें विश्वस्तरीय हैं। विद्युत उत्पादन मात्र 2900 मेगावॉट थी, जो अब 18000 मेगावॉट है। राज्य की कुल सिंचाई क्षमता साढ़े सात लाख हेक्टेयर थी, जो अब 40 लाख हेक्टेयर है। सीएम ने मुख्यमंत्री एक्सीलेंस अवार्डस-2017 सम्मान वितरण कार्यक्रम में विभिन्न श्रेणियों में 15 अवार्डस विजेताओं को पुरस्कृत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Copyright ©digvijay.live. All Rights Reserved. Designed by : Chanchal Singh

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow